Display bannar

सुर्खियां

उत्पाद शुल्क के खिलाफ सर्राफा व्यापारियों की हड़ताल अनिश्चितकालीन हुई


कानपुर : केंद्र सरकार के बजट में सर्राफा पर एक प्रतिशत उत्पाद शुल्क लगाने के फैसले के विरोध में उत्तर प्रदेश सर्राफा एसोसिएशन के आह्वान पर अब पूरे प्रदेश में आज से सर्राफा कारोबारियांे ने अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला किया गया है। इस हड़ताल से प्रदेश के हजारों थोक व फुटकर बाजार पिछले छह दिन से लगातार बंद हैं और सर्राफा व्यापारी अपनी दुकाने बंदकर केंद्र सरकार के विरोध में धरना प्रदर्शन कर रहे हैं।

उत्तर प्रदेश सर्राफा एसोसिएशन का कहना है कि सर्राफा व्यापारियों की इस अनिश्चितकालीन हड़ताल का फैसला कल लखनउ में हुई प्रदेश भर से आये ज्वेलर्स व्यापारियों की बैठक के बाद लिया गया। उत्तर प्रदेश सर्राफा एसोसिएशन के अध्यक्ष महेश चन्द्र जैन ने पीटीआई भाषा को बताया कि कल प्रदेश भर के सर्राफा व्यापारी नेताओं और कारोबारियों की लखनउ में हुई बैठक में यह फैसला लिया गया कि जब तक केंद्र सरकार सर्राफा व्यापार पर एक प्रतिशत उत्पाद शुल्क नहीं हटाती है, तब तक हड़ताल जारी रहेगी। इसलिये अब आज से पांच दिन से चली आ रही हड़ताल अनिश्चितकालीन हड़ताल में बदल गयी है। उन्होंने कहा कि सर्राफा व्यापार को एक्साइज के दायरे में लाने से आभूषणांे का कारोबार करने वाले व्यापारियों में भारी नाराजगी है। उत्पाद शुल्क से सर्राफा कारोबार बंदी के कगार पर पहुंच जाएगा। उत्पाद शुल्क का बोझ ग्राहकों पर पड़ेगा इससे गहने महंगे हो जायेंगे और बिक्री कम घटेगी। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में सर्राफा व्यापार पूरी तरह से ठप पड़ा है और व्यापारी आंदोलन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हड़ताल से प्रदेश भर के सर्राफा व्यापारियों को रोजाना करोड़ो रपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि अब केंद्र सरकार के साथ यह आरपार की लड़ाई है।

No comments