Display bannar

सुर्खियां

CRPF के जवानों ने सीखे तनाव में भी फिट रहने का मंत्रा



अलीगढ़ : मंगलायतन विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति प्रो. प्रदीप सिंह सिवाच ने केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों को दक्षता बढ़ाने और तनावजनित रोगों से दूर रहने के गुर सिखाये। उन्होंने तनाव व दबाव से दूर रहने की सलाह देते हुए कहा कि उन्हें अपनी जीवनचर्या में योग और समयबद्धता को शामिल करना चाहिये। मंगलायतन विश्वविद्यालय के इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट द्वारा 104 रैपिड एक्शन फोर्स बटालियन के प्रांगण में सशस्त्र बल दक्षता विकास कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कमीशंड और नॉन कमीशंड अधिकारियों को संबोधित करते हुए प्रतिकुलपति ने कहा कि सैन्यबल कर्मियों को अपनी अवधारणा में सकारात्मकता बढ़ाने का प्रयास निरंतर करते रहना चाहिये। प्रतिकुलपति अकादमिक क्षेत्र में अपने पैर रखने से पहले सेना में ब्रिगेडियर पद से सेवानिवृत्त हुये। उन्होंने सेना के अपने अनुभवों को साझा करते हुए कहा कि जवानों को अन्य सेवा क्षेत्रों की अपेक्षा अधिक दबाव में काम करना पड़ता है। इसलिये उन्हें योगिक जीवन अपनाना जरूरी है।
         इंस्टीट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट के निदेशक प्रो. अभय कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालय का ज्ञान का प्रसार परिसर से बाहर भी करना और उसे समाजव्यापी बनाने का दृष्टिकोण है। इसी दृष्टिकोण के तहत यह ‘राष्ट्र मंगल कार्यक्रम’ करने का निश्चय किया गया और ऐसा करने में वे अति गौरव और प्रसन्नता महसूस कर रहे हैं। इस दौरान एक प्रश्नावली के जरिये जवानों में तनाव एवं दबाव की जांच करने पर पाया गया कि महिला अधिकारी पुरुष अधिकारियों की अपेक्षा ज्यादा स्ट्रेस में थीं। कमांडेंट अनिल ध्यानी ने राष्ट्र मंगल कार्यक्रम के आयोजन के लिये मंगलायतन विश्वविद्यालय के प्रति आभार व्यक्त किया। प्रतिभागी 60 जवानों की ओर से डिप्टी कमांडेंट इमरान खान  ने इस कार्यक्रम को बेहद उपयोगी बताया और आशा व्यक्त करते हुए कहा कि मंगलायतन विश्वविद्यालय भविष्य में भी ऐसे ही कार्यक्रमों का आयोजन करता रहेगा। कार्यक्रम का कुशल संचालन असिस्टेंट कमांडेंट राजकुमार ने किया। इस कार्यक्रम के संयोजन और तनाव-माप के लिये प्रश्नावली निर्माण जैसे विविध कार्यों के पीछे एसोसियेट प्रोफेसर डॉ. रिंकू रघुवंशी और सहायक प्रोफेसर डॉ.गौरव सक्सेना का योगदान उल्लेखनीय रहा।

No comments