Display bannar

सुर्खियां

जीजा की मौत के बाद उठाएंगे बहन की लाश, दो मासूमो को जन्म दे मर गयी बहन, जीजा की मिली लटकती हुई लाश

आगरा : थाना ताजगंज अंतर्गत ताजमहल के निकट नगला पैमा गाँव में आज सुबह बवाल मचा रहा । यहां के रहने वाले दशरथ की पत्नी कल दो बेटियो को जन्म देकर खून की कमी से मर गयी और मायके वालो ने जमकर मारपीट और बवाल किया। आज सुबह पड़ोस के घर के छप्पर में दशरथ की लाश गमछे से लटकी हुई मिली। लड़का पक्ष लड़की वालो पर मार मार कर हत्या करने के बाद शव लटकाने का आरोप लगा रहे हैं तो लड़की पक्ष भी बेटी की मौत का जिम्मेदार लड़का पक्ष को मान रहे हैं। फिल्हाल पुलिस ने तीन लोगो को हिरासत में लिया है और दोनों लाशो को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
थाना ताजगंज के दशरथ पुत्र नेम चन्द्र 24 की शादी फीरोजाबाद के नगला उदी निवासी बेबी पुत्री रामसेवक से 4 वर्ष पहले हुई थी।शादी के बाद बेबी ने एक वर्ष में एक बच्ची भूमि को जन्म दिया।दोबारा गर्भ ठहरने के बाद परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण दशरथ ने बेबी को एस एन मेडिकल में भर्ती कराया। कल शाम साढ़े चार बजे बेबी ने दो लड़कियो को जन्म दिया और खून की कमी से उसकी मौत हो गयी।मौके पर दोनों ही परिजन मौजूद थे। बेटी की मौत के बाद मायका पक्ष ने जानबूझ कर सरकारी असप्ताल में इलाज कराने का हवाला देकर हंगामा किया।
दशरथ के पिता नेमचंद के मुताबिक कल शाम को बेबी के पिता राम सेवक चचा शंकर और चुनिया चारो साले और साढ़ू 4 गाड़िया दो बोलेरो और दो मैक्स से आये थे यहां भी उनकी बहुत रिश्तेदारी है लगभग दो ढाई सौ आदमियो ने गाँव पर हमला बोल दिया और पूरे गाँव वालो को मारा पीटा।दहशत में दशरथ भाग गया। काफी देर बाद जब मामला शांत हुआ तो दशरथ को बुलाया गया। दशरथ के साढ़ू और सालो ने खुले आम कहा की जब तुझे मार देंगे तब ही लड़की का अंतिम संस्कार करने के लिए उसकी लाश उठाएंगे। रात में काफी मारा पीती हुई।हमसे 5 लाख की मांग मामला खत्म करने के लिए की गयी।
सुबह दशरथ 5 बजे नित्य क्रिया के लिए निकला और उसके बाद उसे लड़की वाले पकड़ ले गए और उसके प्राइवेट पार्ट पर बहुत लाते मारी और उसे पड़ोस के घर के छप्पर में गला दबा कर गमछे से लटका दिया।पूरे गाँव के सामने उसमे जान बची थी तो उसे तब तक मारते रहे जब तक वो मर नही गया और फरार हो गए। मृतक पति पत्नी की एक दुधमुही बच्ची भूमि और दो नवजात बच्चियो को तो अभी समझ ही नही आ रहा की उनके साथ क्या हुआ है। वो तो अभी चैन से सो रही है पर उन्हें नही माल्पों की उनके सर से माँ बाप का साया उठ चुका है और अब वो अनाथ हैं। दशरथ की मौत के बाद पूरे गाँव में जबरदस्त कोहराम मचा हुआ है।दशरथ की माँ रो रो कर मायका पक्ष पर आरोप लगा रही है और गाँव की औरते जबरदस्त चीत्कार कर रही हैं।

पूरे मामले में पुलिस की संवेदन शीलता का भी जवाब नही मिल रहा है। पुलिस ने दो घण्टे बाद पहुँच कर शव कब्जे में लिए और पूछताछ करने सिर्फ एक दरोगा और चन्द सिपाही  ही पहुंचे।पुलिस ने शव ले जाने के के लिए कोई गाडी भी नही मंगाई उलटा परिजनों से ही गाडी मंगवा कर शव को पीएम तक पहुंचाया। पीएम को शव ले जाने के समय पुलिस ने थाने के बाहर लेकर शव सीज किये और यहां भी इंसानियत को तार तार करते हुए मृतक के चचेरे छोटे भाई नाबालिग राजू से शव को कफ़न में लपेट कर सिलवाया । इस प्रकरण में पुलिस ने तीन लोगो को हिरासत में लिया है । इस सम्बन्ध में एस ओ ताजगंज अरुण कुमार का कहना है की तहरीर के आधार पर कार्यवाही की जा रही है।हत्या या आत्महत्या का मामला पोस्टमार्टम के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा।

No comments