Display bannar

सुर्खियां

ताजमहल पर हुआ कुछ ऐसा जो हिन्दुओ पर थूकाने वाला था... पढे क्या था मामला


आगरा : ग्वालियर में आयोजित फैशन शो और सिंधिया परिवार के भोज में शामिल होने के बाद आज अलग-अलग देशो की 34 देशो की माडल्स आगरा ताजमहल देखने पहुंची| दोपहर एक बजे जैसे ही माडल्स ताजमहल पूर्वी गेट से अंडर प्रवेश हुई तो सीआइएसएफ ने पहले तो चेकिंग के दौरान उनके पास उनके देशो के सिम्बल्स लगे दुपट्टे हटवाये जो की नियमो के अनुसार सही था पर जब उन्होंने कुछ माडल्स के गले में पड़े रामनामी दुपट्टे उतरवाए तो उन्हें बुरा लगा| कर्मचारिओं ने आर्गेनाइजिंग टीम के सदस्यों से दुपट्टे उतरवा कर बाहर भिजवाये तब जाकर माडल्स ताजमहल जा सकी| 


माँ वैष्णो देवी की तस्वीर व राम नाम का दुपट्टा रखवाया बाहर 
मोदी और योगी के राज में ताजमहल में राम नाम का दुपट्टा व माँ वैष्णो देवी की तस्वीर ताजमहल पर लेकर पहुंची तभी ये देख कर ताज सुरक्षा ने सभी से उनका दुपट्टा व माँ वैष्णो देवी तस्वीर बाहर जमा करने को कहा इस पर जब मौके पर पहुंचे बिग पेजेस से जुड़े पत्रकार विमल कुमार ने उनसे दुपपाटा व माँ वैष्णो देवी की तस्वीर लाने की वजह पूछा तो सभी ने मोदी व योगी से प्रभावित होना बताया| एक मॉडल का कहना था की उनकी आस्था वैष्णो देवी मे है और वो हमेशा उनको अपने साथ रखती है| अब उन्हे काफी बुरा लग रहा है| 

विज्ञापन पर नहीं भगवा पर रोका
ताज सुरक्षा कर्मियों ने माडल्स के पूछने पर उन्हें बताया गया की यह ताजमहल में प्रतिबंधित है और साथ ही मीडिया को जवाब दिया गया की धर्म से रिलेटेड लिखा हुआ पहन कर जा सकते हैं पर चूंकि यह लोग विदेशी हैं और हिन्दू धर्म के नहीं हैं इसलिए इनसे उतरवाया गया है| इस दौरान माडल्स इवेंट का नाम लिखी टीशर्ट्स पहने थी और उनके गले में संस्था का नाम लिखे पत्ते और आइकार्ड्स भी थे पर उन्हें किसी ने नहीं हटवाया जबकि ताजमहल पर किसी भी तरह का प्रमोशन वर्जित है और तो और किसी भी तरह के विडियो शूट और प्रोफेशनल फोटोशूट के लिए बाकायदा फीस जमा कर अनुमति ली जाती है| इस प्रकरण पर हिन्दू वादी नेताओं में आक्रोश है |

क्या कहते है अधिकारी 
सीआइएसएफ के असिस्टेंट जाकड़ ने बताया की माडल्स एक जैसे दुपट्टे अलग से पहने हुए थे इस कारण उतरवाया गया था| माडल्स ने पीएम मोदी को फैशन आइकन बताते हुए कहा की मोदी का फैशन सेन्स बहुत अच्छा है|

No comments