Display bannar

सुर्खियां

मथुराकांड के संदिग्ध रूपेश यादव ने आवास विकास मे की अत्महत्या...देखे विडियो

कामरान वारसी, आगरा 
गमगीन परिवारिजन
आगरा : ताज नगरी आगरा के जगदीशपुरा थाना क्षेत्र के बिचपुरी इलाके में रहने वाले रुपेश यादव ने 2 दिन पहले फांसी लगाकर मौत को चूम लिया । बिचपुरी इलाके में रहने वाला रुपेश यादव बीते दिनों जनपद मथुरा में दो सर्राफा व्यवसायियों की हत्या कर लूट की वारदात में नामजद था। परिवार के लोगों को इस बात की भनक नहीं थी कि उनका बेटा जनपद मथुरा में दो सर्राफा व्यवसायियों की हत्या कर लूट की वारदात को अंजाम देकर फरार चल रहा है। मृतक रुपेश के पिता भगवान दास बताते हैं कि रुपेश जनपद मथुरा में एक कपड़े की दुकान पर काम करता था और उसके पिता भगवान दास हलवाई का काम करते थे। रुपेश और उसका परिवार कुछ सालों पहले ही जनपद मथुरा में शिफ्ट हो गया था। जनपद मथुरा में रहते हुए और कपड़े की दुकान पर काम करते हुए रुपेश अपराधी प्रवृत्ति के लोगों के संपर्क में आया और उसके बाद मथुरा में सरेशाम दो सर्राफा व्यवसायियों की हत्या कर लूट की वारदात को अंजाम दे दिया। हालांकि लूट की वारदात को अंजाम देने वाले रुपेश को अपने किए पर पछतावा हो रहा था।


क्या कहते है मृतक के पिता भगवानदास  
मथुरा में घटना के बाद से ही रुपेश लापता हो गया और कुछ दिन पूर्व जगदीशपुरा थाना क्षेत्र के बोदला सेक्टर 1 में अपनी मौसी के पास आया। परिवार के लोगों को जब मौसी  ने सूचना दी तो रुपेश ने अपने पिता भगवान दास को बताया कि वह कुछ अपने दोस्तों के बहकावे में आकर जनपद मथुरा में सरेशाम दो सर्राफा व्यवसायियों की हत्या और लूट की वारदात में शामिल रहा है| इसके बाद यह कहानी सुनते ही परिवारीजनों के पैर उखड़ गए। इस पूरे घटना क्रम के बाद मृतक के पिता भगवान दास ने आरोपी रुपेश को कोर्ट में सरेंडर करने का फैसला लिया और कोर्ट में सरेंडर कराने की प्रक्रिया में जब मृतक के पिता भगवानदास अपने परिवारीजनों से सलाह ले रहे थे। तभी परिजनों को सूचना मिली कि उनके बेटे रूपेश ने बोदला सेक्टर-1 स्थित अपनी मौसी के घर पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है ।

रूपेश यादव की मौत पर प्रशासन हुआ मौन
इस घटनाक्रम के बाद मृतक के परिवारीजन घटनास्थल पहुंचे तब तक पुलिस शव को पोस्टमार्टम गृह भेज चुकी थी। बरहाल इस मामले में आगरा पुलिस के  कोई भी अधिकारी बोलने को राजी नहीं है क्योंकि मामला हाल ही में जनपद मथुरा में दो सर्राफा व्यवसायियों की हत्या और लूट कांड से जुड़ा है। जिसने शासन से लेकर प्रशासन को हिलाकर रख दिया था। इस मामले में आगरा के अधिकारी जान बचाते नजर आ रहे हैं। मृतक रूपेश ने आत्महत्या 2 दिन पूर्व की है इसके बावजूद भी आगरा पुलिस इस मामले को दबाने का प्रयास कर रही थी पर जैसे ही यह सूचना जानकारी में आई कि मथुरा कांड के आरोपी रुपेश ने आत्महत्या कर ली है तो पुलिस इस मामले पर बोलने से बचती नजर आ रही है। आगरा पुलिस के तमाम अधिकारियों से संपर्क करने के बावजूद भी किसी भी अधिकारी ने इस मामले में अपना वर्जन नहीं दिया है। तो वहीं एसपी सिटी आगरा कुँवर अनुपम सिंह का कहना है कि मामला मथुरा पुलिस से जुड़ा है। इसलिए बोलना ठीक नहीं है। अधिकारिक तौर पर पुलिस यह भी बताने को राजी नहीं है कि मृतक रुपेश की मौत का कारण क्या है ।

No comments