Display bannar

सुर्खियां

जानिए सुप्रीम कोर्ट के तीन तलाक के फैसले पर क्या बोली समाजसेविका फातिमा खान

फातिमा खान, समाजसेविका
सुप्रीम कोर्ट का फैंसले का सम्मान करती हूँ और करना भी चाहिए क्योंकि ये फैंसला उस महिला के हक़ में लिया गया है जो ज़ाहिल, लालची मर्द और क़ाज़ी के जुल्मों के शिकार हुई होंगी| ऐसे लोगो को दंड मिलना ही चाहिए जो अपनी अय्याशी और चंद पैसों के टुकड़ों के लिए महिला का शोषण करते हैं ऐसे लोग हर मजहब में मिल जाएंगे| चलिए फैंसला तो आ गया और आना भी चाहिए था लेकिन मेरी इस सरकार और सुप्रीम कोर्ट से एक अपील है कि इन बड़बोलों को कौन इस्लाम की तालीम देगा, क्या हमारे देश में संस्कृत के जैसे अरबी भाषा इंटर तक और हर कक्षा में विषय के रूप अनिवार्य नहीं करनी चाहिए ताकि हर नागरिक क़ुरान पढ़े और समझे कि उंसमें लिखा क्या है ये बात इसलिए मेरे ज़ेहन में आई जो बुराई जन्म लेती है वो अज्ञानता वश ही लेती है|

No comments