Display bannar

सुर्खियां

1500 किलो सोने से बना है तमिलनाडु का गोल्डन टेम्पल, 24 घंटे रहती है सिक्योरिटी फोर्स


आप अमृतसर के गोल्डन टेम्पल में गए होंगे, वहां की शांति और खूबसूरती देखकर आपको लगा होगा कि भारत में अद्भुत जगहों की कमी नहीं है. अमृतसर के गोल्डन के अलावा तमिलनाडु के वैल्लोर स्थित गोल्डन टेम्पल भी दुनिया के अजूबों में शामिल है. आइए, हम आपको बताते हैं इस मंदिर के बारे में. 
स्वर्ण मंदिर, श्रीपुरम अथवा महालक्ष्मी स्वर्ण मन्दिर तमिलनाडु राज्य के वेल्लोर नगर में है. यह मंदिर वेल्लोर शहर के दक्षिणी भाग में है. इस महालक्ष्मी मंदिर के निर्माण में तक करीबन 1500 किलोग्राम शुद्ध सोने का इस्तेमाल हुआ है. इस मंदिर को 2007 में बनाया गया है. रात के समय जब इस मंदिर पर रोशनी पड़ती है, तो इस मंदिर का नजारा बेहद खूबसूरत लगता है.
100 एकड़ से ज्यादा क्षेत्र में फैले इस मंदिर में हरियाली नजर आती है. मंदिर की संरचना वृताकार है. मंदिर परिसर में देश की सभी प्रमुख नदियों से पानी लाकर सर्व तीर्थम सरोवर का निर्माण किया गया है. मंदिर की सुरक्षा में यहां 24 घंटे पुलिस सिक्योरिटी फोर्स रहती है. 

कैसे पहुंचे 

वेल्लोर में तीन मुख्य रेलवे स्टेशन हैं. सबसे महत्वपूर्ण वेल्लूर कट्पडी जंक्शन है. दूसरा बड़ा स्टेशन, वेल्लोर छावनी है, जो सूर्यकुलम में है और कट्पडी जंक्शन से 8 किमी दूर है. तीसरा और सबसे छोटा स्टेशन वेल्लोर टाउन स्टेशन है. यह कोनावट्टम विल्लीकपुरम जंक्श न से कट्पडी जंक्शन को जोड़ता है. अगर आप हवाई मार्ग से वेल्लोर की यात्रा कर रहे हैं, तो आपको 100 किमी की दूरी पर स्थित निकटतम घरेलू हवाई अड्डे तिरुपति एयरपोर्ट पर उतरना होगा. चेन्नपई अंतर्राष्ट्री य हवाई अड्डा यहां से 130 किलोमीटर दूर है और बेंगलुरू अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा यहां से 200 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. इन शहरों से वेल्लोर तक नियमित बसें हैं. वेल्लोर व आस-पास के लिए टैक्सी सेवा भी हवाई अड्डों से उपलब्ध हैं.


घूमने से पहले ध्यान रखें बातें 

श्रीपुरम स्वर्ण मंदिर के अंदर प्रवेश करते समय शॉर्ट पैंट, मिडी और केपरी मना है. मोबाइल फोन, कैमरा और अन्य इलेक्ट्रॉनिक आइटम, तंबाकू, शराब और ज्वीलंतशील सामान अंदर ले जाना सख्त मना है. साल के सभी 365 दिन सुबह 8 से रात्रि 8 के बीच श्रीपुरम स्वर्ण मंदिर भक्तोंआ के लिये खुला रहता है. मंदिर में अभिषेकम सुबह 4 बजे से 8 बजे तक होती है और आरती सेवा शाम 6 से 7 बजे के बीच आयोजित की जाती है.

No comments