Display bannar

सुर्खियां

फिर हुआ गुरु शिष्य का रिश्ता तार-तार... तोड़ी सारी हदें


आगरा: उत्तर प्रदेश में सुबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ भले ही प्रदेश से बलात्कार और महिलाओं के प्रति होने वाले अपराध के प्रति गंभीर हों मगर समाज के वहशी दरिंदे और उनके चेहरे लगातार सामने आ रहे हैं। ताजनगरी आगरा में ही कुछ ऐसा घटनाक्रम सामने आया है जहां गुरु और शिष्य के पवित्र रिश्ते से लोगों का विश्वास उठ गया है। ताजनगरी आगरा में नाबालिग बच्ची की एक इज्जत तार-तार हुई है|

क्या है मामला 
दरअसल यह मामला ताजगंज थाना क्षेत्र का है। नाबालिग बच्ची काल्पनिक नाम की सुधा ITI में पढ़ रही है। जिसमें परीक्षा कल यानी 5 फरवरी से शुरू हो रहे है,  जिसको लेकर गुरु का दर्जा कहे जाने वाले शिक्षक संत कुमार बच्ची के परिवार के संपर्क में आए। घटना 3 फरवरी दिन शनिवार दोपहर 11:00 बजे की है। पीड़िता के मुताबिक़ आरोपी शिक्षक संतकुमार ने ITI के प्रवेश पत्र दिलाने के नाम पर बच्ची को होटल में ले जाकर दुष्कर्म जैसी घिनौनी घटना को अंजाम दिया।

नाबालिग बच्ची को बहला-फुसलाकर कागजात सहित एक होटल में बुलाया गया। यह होटल थाना ताजगंज क्षेत्र में स्थित है। ताजगंज थाना क्षेत्र के गोबर चौकी इलाके में स्थित एक होटल में गुरु का दर्जा कहे जाने वाले शिक्षक संत कुमार ने नाबालिग बच्ची सुधा के साथ दुष्कर्म जैसी घिनौनी घटना को अंजाम दिया। ना केवल बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ बल्कि उसे डराया धमकाया भी गया। और तो और यह पूरा मामला होटल के रजिस्टर में दर्ज है। यानि शिक्षक ने अपने नाम पर 500 रु० में कमरा खरीदा और उस कमरे में दिनदहाड़े एक बच्ची के साथ दुष्कर्म जैसी घिनौनी घटना को अंजाम दिया गया।

मदद के लिए चिल्लाती रही छात्रा 
नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ। बच्ची कमरे के अंदर चीखती चिल्लाती रही। अपनी इज्जत की दुहाई मांगती रही मगर गुरु के भेष में समाज का भेड़िया उसकी इज्जत को तार-तार करता रहा। आखिरकार नाबालिग बच्ची अपने घर पहुंची और पूरी घटना को परिवारीजनों को बताया इसके बाद परिवार वालों ने थाना ताजगंज पुलिस को लिखित शिकायत की। पीड़िता और उसके परिवार की लिखित शिकायत पर थाना ताजगंज पुलिस ने गुरु का दर्जा कहे जाने वाले समाज के भेड़िये संत कुमार को हिरासत में ले लिया है।

आरोपी को किया पुलिस ने गिरफ्तार 
संत कुमार मूल रूप से जनपद इटावा का निवासी है। अपनी हवस का शिकार बनाने वाले समाज के भेड़िए और गुरु का दर्जा कहे जाने वाले संत कुमार के खिलाफ थाना ताजगंज पुलिस ने दुष्कर्म सहित कई गंभीर धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर लिया है और जेल भेजने की तैयारी कर ली है। सवाल इस बात का है कि उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार जहां एक तरफ दुष्कर्मियों और महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों पर गंभीर है तो वहीं ऐसे शिक्षक भी हैं जिनका भरोसा समाज से उठ गया है।

फिलहाल वहशी दरिंदे को गिरफ्तार कर पुलिस जेल भेजने की तैयारी कर रही है। गुरु और शिष्य का रिश्ता हुआ तार-तार इस बात की भी पुष्टि करता है कि शायद अब अपने गुरु पर पर भी शिष्य आँख बंद कर भरोसा नहीं कर सकता।

No comments