Display bannar

सुर्खियां

सूरसदन में वैश्यों का शक्ति प्रदर्शन आज...ये है मांगे

  • राजू गुप्ता हत्याकांड पर होगा बड़ा फैसला 
  • आज वैश्य समाज का उत्पीड़न के खिलाफ होगा हल्ला बोल  
  • राष्ट्रिय अध्यक्ष डॉ० सुमंत गुप्ता के नेतृत्व में वैश्य व्यापारी भरेंगे राजनैतिक हुंकार 


आगरा : सूरसदन में अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद् द्वारा आज वैश्य समाज का राजनैतिक शक्ति प्रदर्शन का दिन है| इस सम्बन्ध में कई दर्जनों बैठके शहरी व ग्रामीण क्षेत्रो में हो चुकी है| इन बैठकों में प्रमुखता से राजू हत्याकांड व व्यापारी उत्पीड़न का मुद्दा छाया रहा | आज इसी कड़ी में विशाल वैश्य सम्मलेन का आयोजन डॉ० सुमंत गुप्ता के नेतृत्व में किया जा रहा है|  कार्यक्रम में उद्धघाटनकर्ता सुरेश चंद्र गर्ग, अध्यक्षता दिनेश बंसल कातिब, स्वागत अध्यक्ष रितेश अग्रवाल होंगे। मुख्य वक्ता के रूप में गाजियाबाद से श्याम सुन्दर अग्रवाल एंव विशिष्ट अतिथि के रूप में ब्रज मोहन बंसल, मुरारी प्रसाद अग्रवाल, राजीव जयराम, भोलानाथ अग्रवाल, अशोक अग्रवाल, छोटे लाल बंसल, रामप्रकाश अग्रवाल, आशुतोष वार्ष्णेय, कृष्ण मुरारी अग्रवाल व नवनीत बंसल रहेंगे |  राजनैतिक हुंकार महापंचायत में वैश्य समाज पर हो रहे उत्पीड़न के खिलाफ अपनी आवाज को बुलंद करेंगे | जिसमे महापौर नवीन जैन, विधायक जगन प्रसाद गर्ग तथा महेश गोयल भी अपनी बात समाज के लोगो के बीच रखेंगे | सम्मलेन में राष्ट्रिय व जिले के पदाधिकारी अखिल भारतीय वैश्य एकता परिषद् की शपथ भी ग्रहण करेंगे | आज की महापंचायत में विनय अग्रवाल, विनोद अग्रवाल, केशव अग्रवाल एंव मुरारी लाल गोयल ने वैश्य समाज से अधिक से अधिक संख्या में पहुँचने की अपील की |  

राजू गुप्ता हत्याकांड पर होगा बड़ा फैसला 
चर्चित राजू गुप्ता हत्याकांड पर प्रशासन के गोलमोल रवैये से वैश्य समाज में व्याप्त आक्रोश पर बड़ा फैसला लिया जायेगा | लगातार आयोजित हो रही बैठकों में भी हर तरफ राजू गुप्ता की हत्या का मुद्दा छाया रहा | वैश्य समाज द्वारा महापंचायत में आंदोलन की घोषणा भी हो सकती है| 

वैश्य व्यापारियों के उत्पीड़न का मुद्दा होगा मुख्य केंद्र 
सरकार द्वारा वैश्य व्यापारियों पर उत्पीड़न आम होता जा रहा है जिससे आज व्यापारी मानसिक तनाव में है| व्यापारी पर इतने कर (टैक्स) लगा दिए है की उसकी कमर टूट चुकी है| उसके बाद ऑनलाइन व्यापार ने अधिकतर बाजार पर स्वामित्व कर रखा है| आये दिन वैश्य व्यपारियो के माल पर चेकिंग होती रहती है | इससे व्यापारी में दहशत में है| 

केंद्र सरकार से ये होंगी मुख्य मांग 
वैश्य समाज को आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया जाये| आयकर में छूट की सीमा 5 लाख रुपए की जाये | राष्ट्रिय व्यापारी आयोग का गठन किया जाये | छोटे व माध्यम स्तर के उद्योग करने वाले व्यापारियों को 50 लाख का ऋण सरकारी बैंको से मुहैया कराया जाये | वर्तमान में केंद्र सरकार द्वारा संशोधित एससी/एसटी एक्ट में परिवर्तन किया जाये | जीएसटी में पंजीकृत व्यापारियों की बीमा राशि 20 लाख रुपए की जाये एंव सरकारी इलाज की व्यवस्था की जाये | 

No comments