Display bannar

सुर्खियां

मिडनाइट बाजार के मंच पर हुआ कवयित्री सम्मेलन

       

आगरा : गंतत्रण दिवस की पूर्व संध्या पर कोठी मीना बाजार पर चल रहे मिडनाइट बाजार का 7वां दिन रहा कवयित्रियों के नाम। जिसमें शहर की जानी-मानी कवयित्रियाँ नूतन ज्योति अग्रवाल, अलका अग्रवाल, पूजा अहूजा कालरा, अंकिता कुलश्रेष्ठ, भावना दीपक मेहरा, संगीता अग्रवाल, राजश्री यादव ने मंच पर अपना काव्य-पाठ किया और उन्हें मिडनाइट बाजार आयोजन समिति द्वारा सम्मानित किया गया और राष्ट्रीय मतदाता दिवस का पोस्टर विमोचन कर लोगों को मतदान के लिए जागरूक किया एवं कवयित्री सम्मेलन का संचालन व संयोजन कवयित्री नूतन ज्योति अग्रवाल द्वारा किया गया।

‘‘हूँ मैं निर्मल पानी सी आकार में तेरे ढल जाऊँगी... बन के बूँदे बारिश की आँगन में बरसने आऊँगी’’... कवयित्री नूतन ज्योति अग्रवाल ने बहुत ही शानदार पंक्तियों से सम्मेलन की शुरुआत की, ‘‘मेरी ऊँचाइयों का चर्चा न जानें क्यों हर जिक्र में है... मैं लड़खड़ाऊँ जरा सा और वो गिरने की फिक्र में है’’... कवयित्री अलका अग्रवाल ने पंक्ति पर बटोरी तालियाँ, ‘‘शोर तो है हर एक घुंघरु का... दर्द है अपनी-अपनी किस्मत का’’... कवयित्री पूजा अहूजा कालरा, ‘‘एक तितली प्रीती फूलों से लगा बैठी तो क्या... एक कोयल गीत मधुवन में सुना बैठी तो क्या..., ‘‘खंडहर में महफिलें सजने लगे तो, बात हो... कंटकों से प्रेम गर होने लगे तो बात हो’’... कवयित्री अंकिता कुलश्रेष्ठ, नेह की बांधती डोरियां बेटियां... बेटियां बेटियां प्यारी ये बेटियां... यूं न मारा करो कोख में ही इन्हें, स्नेह जल से भरी बदलियां बेटियां’’... कवयित्री भावना दीपक मेहरा, ‘‘बेटियां वरदान हैं... बेटी क्यों अभिशाप है’’...कवयित्री संगीता अग्रवाल।

मिडनाइट बाजार आयोजन समिति के मनीष अग्रवाल ने बताया कि बम्पर ऑफर के चलते मेले में आये लोगों ने जमकर खरीददारी की। महिलाओं ने घर की साज-सज्जा और रसोई के लिए उपयोग में आने वाले उपकरण जो कि विशेष ऑफर के साथ मेले में उपलब्ध है। बच्चों के लिए स्टेशनरी, खिलौने, स्वादिष्ट फास्ट-फूड के स्टाॅल लगाये गये है, फन जोन में विभिन्न प्रकार के आकर्षक झूले जैसे टाॅय-ट्रेन, ब्रेक डांस झूला, जाॅइंट वहील, बाॅनसूई, टोरा-टोरा आकर्षित कर रहे हैं। वहीं चल रहे वैवाहिक सीजन के लिए नई-नई वेराईटी के फर्नीचर, बेड, सोफा, गद्दे, एल.ई.डी टीवी, चिमनी, अलमारी के स्टाॅलों पर दिया जा रहे विशेष आॅफर लोगों को आकर्षित कर रहा है, विशेष आॅफर और उत्पादों की बडी रेंज ने ग्राहकों को खरीददारी के लिए वाध्य कर दिया है।


यही नहीं मिडनाइट बाजार में ऊँट की सवारी और गर्मागर्म मंगौडे़ के स्वाद के साथ होममेड चाॅकलेट, सोन पपड़ी, गुड की गजक, जयपुर का चूरन, फायर पान, उदयपुर से आये विभिन्न प्रकार के बिस्कुट, बनारस का अचार, पंजाब की फुलकारी, खुशबू के लिये अरोमा आयल, दाल और चावल के पापड, जम्मू-कश्मीर के ड्राय-फ्रूटस, पानीपत का हेण्डलूम, दिल्ली के फेशनेबिल प्रोडक्टस  लोगों को आकर्षित कर रहे हैं। मेला प्रतिदिन दोपहर 2 बजे से रात्रि 10 बजे तक रहता है, मेले में प्रवेश निःशुल्क है। मेले में लगी कम्पनियों के अपने स्टाॅल पर इलैक्ट्राॅनिक्स एवं इलैक्ट्रिकल सामान, मसाले, शुद्ध देसी घी इत्यादी पर कम्पनी सीधे ग्राहकों को बम्पर छूट दे रही है। इस दौरान रावी इवेंटस के निदेशक मनीष अग्रवाल, इनक्रेडिबल इंडिया फाउंडेशन के सचिव अजय शर्मा एवं कोर्डिनेटर ब्रजेश शर्मा, मेला संयोजन पी.पी. सिंह चैहान, रिया शाह, अमित सूरी, राम शर्मा, अमित कुमार प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

No comments