Display bannar

सुर्खियां

इंसानियत के साथ पेश की हिन्दू-मुस्लिम एकता की मिशाल

अंकित सिंह, वाराणसी


हरहुआ डीह : रक्षाबंधन के पहले रविवार को गंगा-जमुनी तहजीब की मिसाल देखने को मिली। यहां हिंदू युवती सोनी (19) की मलेरिया से हुई मौत के बाद मुस्लिम भाइयों ने न सिर्फ कंधा दिया बल्कि घर से मणिकर्णिका घाट तक ‘राम नाम सत्य है’ बोलते हुए गए। टोपी लगाए मुस्लिम भाई बहन की अर्थी लेकर मणिकर्णिका घाट की ओर बढ़ रहे थे तो उन्हें देखने के लिए लोगों की भीड़ जमा हो गई। 

हरहुआ डीह में गत 25 सालों से घर बनाकर होरीलाल विश्वकर्मा पत्नी जड़ावती, तीन पुत्र व तीन पुत्रियों के साथ रह रहे हैं। फर्नीचर आदि का काम करने वाले होरीलाल को कुछ साल पहले लकवा मार दिया। उनकी पत्नी भी हृदय की बीमारी से पीड़ित है। परिवार की जिम्मेदारी बड़े पुत्र राजू येन-केन तरीके से चला रहा है| सुबह होरीलाल की पुत्री सोनी की अचानक तबीयत बिगड़ी। उपचार के दौरान मौत हो गई। सोनी की मौत के बाद उसके लाचार पिता और भाई की बेबसी देख बस्ती के कई मुस्लिम व हिंदू परिवारों के लोग आर्थिक सहयोग के साथ अर्थी को कंधा देकर मणिकर्णिका घाट ले गए। कंधा देने वालों में जुम्मन, छोटू, जुमादिन, मोहम्मदीन हाशमी, महताब हाशमी, करिया शाह, कलीम शाह, मुकद्दस, अफरोज शाह, अरशद हाशमी आफताब हाशमी आदि रहे।

No comments