Display bannar

सुर्खियां

पानीपत में प्रशासन के तैयारियों की खुली पोल... देखे

प्रकाश चंद्रा, दिल्ली 


पानीपत : यमुना की तलहटी पर बसे गावो में बाढ़ का खतरा बना रहता है खास तौर पर मॉनसून के मौसम में लेकिन प्रसाशन द्वारा बाढ़ प्रबंधन के बड़े बड़े दावे किये जाते है |  यमुना की तलहटी पर बसे गांव मिर्जापुर के लोगो को बाढ़ का खतरा सताने लगा है | प्रसाशन द्वारा जुलाई में तटबंदो की रिपेयर करवाई गई थी और पत्थर भी डलवाये गए थे ताकि किसी प्रकार का कटाव ना हो परन्तु हल्का सा पानी छोड़े जाने से यमुना के तटबंध पर कटाव शुरु हो गया है। 

ग्रामीणों का आरोप है कि प्रशासन द्वारा तीन से चार ट्रंक पत्थर डलवाये गए जिनको पानी में वैसी ही फेंक दिया गया | उन पर लोहे के जाल से सेटिंग नहीं की गई। जिसके काऱण पत्थर पानी में बह गए और तटबंध पर कटाव शुरु हो गया। यमुना नदी में पानी का जल स्तर बढ़ा तो ये बांध टूट जायेगा और उनके गांव में पानी पानी हो जायेगा। उन्हें बाढ़ का डर सताने लगा है। यमुना नदी में हाल ही में यमुनानगर हेड से पानी छोड़ा गया है जो की पानीपत में देर रात तक पहुंचा जिससे ग्रामीणों और प्रसाशन की मुसीबते बढ़ रहीं है।

No comments