Display bannar

सुर्खियां

सिपाही का शव आते ही गांव में दौड़ी शोक की लहर

घनश्याम कृष्णा, औरैया 


दिबियापुर : थाना क्षेत्र के कस्बा रामगढ़ के गांव पूर्वा छनछन निवासी सिपाही का शव उसके पैतृक गांव में आते ही शोक की लहर दौड़ गई। सिपाही का अंतिम संस्कार बुधवार को उसके पैतृक गांव में किया गया। मिली जानकारी के अनुसार मृतक के पिता रामगोपाल भदौरिया ने बताया कि मेरा बेटा महेश सिंह भदौरिया उम्र 42वर्ष निवासी पूर्वा छनछन सन 1995 में पुलिस में भर्ती हुआ था। जो इस समय पुलिस लाइन कानपुर के तैनात था।उन्होंने बताया कि मुझे पुलिस विभाग के द्वारा सूचना मंगलवार को सुबह मिली कि वह रात में छत से गिर गया जिसकी मौत हो गई।इसके बाद पुलिस विभाग के अधिकारी मेरे बेटे का शव लेकर मंगलवार की शाम को लगभग 7:30बजे मेरे घर पर ले आये। 

मृतक के पिता ने बताया कि मृतक के दो पुत्र शिवम 22 वर्ष, रिषभ 18 वर्ष और उनकी पत्नी औरैया में थे। जैसे ही मृतक सिपाही का शव गांव पूर्वा छनछन गांव आया तो गांव में शोक लहर दौड़ गई।जैसे ही क्षेत्र वासियों को मृतक सिपाही की सूचना मिली तो देखते ही देखते उसके आवास पर क्षेत्र के लोगो की भीड़ एकत्रित हो गई।मृतक सिपाही का अंतिम संस्कार उसके पैतृक गांव में किया गया।मृतक को मुखाग्नि मृतक के बड़े पुत्र ने दी।वहीं सिपाही की मृत्यु की खबर मिलते ही क्षेत्र के समाजसेवी राजीव आर्या, अखिल भारतीय शाक्य महासभा के जिलाध्यक्ष अखिलेश शाक्य, उमाशंकर कैथवार, पूर्व प्रधान उदयभान सिंह जादौन, सुनील तिवारी, कैलाश शर्मा, गुड्डन परिहार, छोटे राजावत, महेंद्र प्रताप राजपूत सहित सैकड़ों लोगों ने मृतक के आवास पर पहुँच कर शोक सम्बेदना व्यक्त की।

No comments