Display bannar

सुर्खियां

तवायफ कह उठी, पैसे मत देना मुझे पर बच्चियों को छोड़ दो...

घनश्याम कृष्णा, औरैया


दिबियापुर : भारत छोड़ो आंदोलन की 77 वीं वर्षगांठ पर दिबियापुर मेंअखिल भारतीय कवि सम्मेलन काव्य धारा का आयोजन सांसद रामशंकर कठेरिया ने शुभारंभ किया | कार्यक्रम में हास्य कवि यशदीप कौशिक ने नीव में ईंट रखी। जिस पर ओज के सशक्त हस्ताक्षर गौरव चौहान ने वो चिनाई की कि पहले स्तम्भ ने ही तय कर दिया कि इमारत बुलन्द बनेगी। मिस नैनीताल रही, श्रंगार की कवियत्री डॉक्टर गौरी मिश्रा ने इमारत में द्वार-वातायन इस अंदाज में लगाए की हर कोने में नैनीताल की ठंडी हवा का एहसास हो उठा। बनारस से पहुंचे हास्य व्यंग के बड़े कवि डॉ अनिल चौबे ने कौन कहता है हसाने के लिए,बिलो द बेल्ट जाना पड़ता है, अनिल चौबे ने साबित किया कि घोर टकसाली रहते हुए भी,घनघोर ठहाकों का सौदा किया जा सकता है।

ये रहे मौजूद 
जिला पंचायत अध्यक्ष दीपू सिंह, विधायक लाखन सिंह राजपूत, रमेश दिवाकर, प्रांतीय उपाध्यक्षा रंजना उपाध्याय, बीजेपी जिला अध्यक्ष गीता शाक्य, जिलाधिकारी अभिषेक मीना, पूर्व मंत्री चौधरी रामबाबू यादव



No comments