Display bannar

सुर्खियां

बुलंदशहर हिंसा के आरोपियों का हुआ फूल-मालाओं से स्वागत

अशरफ शेख़, कानपुर


बुलंदशहर: बुलंदशहर के स्याना में हिंसा मामले के मुख्य आरोपी जीतू फौजी, बजरंग दल के पूर्व जिलाध्यक्ष उपेन्द्र राघव, शिखर अग्रवाल समेत सात आरोपी जमानत पर रिहा कर दिए गए। सभी आरोपियों की रिहाई के बाद हिंदूवादी संगठनों और आरोपियों के समर्थकों ने फूल मालाओं और जय श्री राम के नारों के साथ आरोपियों का स्वागत किया।

क्या था मामला
3 दिसंबर 2018 बुलंदशहर में उस वक्त हिंसा भड़क गई थी जब कुछ लोगों को गोवंश के टुकड़े स्याना क्षेत्र के गांव में मिले थे| इसके बाद गुस्साए 400 लोगों ने जमकर हंगामा किया| कई वाहनों को आग लगा दी गई और पुलिस पर पत्थर और कथित तौर पर गोलियां चलाईं| इस घटना में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के अलावा गाँव चिंगरावठि के युवक सुमित की मौत हो गई थी| मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एसआईटी का गठन करते हुए इस मामले की जांच के आदेश दिए थे| जिसमें 5 लोगों पर इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या का आरोप लगा था साथ ही 33 लोगों पर हिंसा और आगजनी उकसाने के आरोप लगाए थे जिनमें शिखर अग्रवाल और उपेंद्र राघव का नाम शामिल है| 

शिखर अग्रवाल भाजपा युवा मोर्चा के स्याना के पूर्व नगर अध्यक्ष हैं जबकि उपेंद्र सिंह राघव अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद के विभाग अध्यक्ष हैं| इसके अलावा अन्य तीन की पहचान जीतू फौजी, सौरव और रोहित राघव के रूप में हुई थी | जीतू फौजी वही व्यक्ति है जिसकी तथाकथित पुष्टि इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह पर गोली चलाने वाले के रूप में हुई थी। इन सभी आरोपियों के बरी होने के बाद इनका स्वागत किया गया। इस दौरान पूरी घटना का वीडियो किसी ने बना लिया | ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है वीडियो में आरोपियों को फूलों की माला पहनाई जा रही है| कुछ लोग आरोपियों के संग सेल्फी लेते हुए भी नजर आए| 

No comments