Display bannar

सुर्खियां

यमुना का जल स्तर लगातार कम होने से लोगो को राहत

घनश्याम कृष्णा, औरैया 


अजीतमल : यमुना नदी में हरियाणा के हथिनीकुण्ड व चम्बल नदी में राजस्थान के कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने से लगातार पानी का स्तर बढ़ रहा था जिससे इन नदियों के किनारे बसे अजीतमल तह्सील के दर्जनों गांवों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा था लेकिन शनिवार से लगातार पानी का स्तर कम होने से यमुना नदी के किनारे बसे गांव के लोगो ने राहत की सांस ली है। वही अभी तक इन ग्रामीण क्षेत्रो में अभी तक स्वास्थ विभाग की कोई टीम नही पहुंच सकी है।

अजीतमल तह्सील क्षेत्र से लगभग 8 किलोमीटर दक्षिण में यमुना नदी का जल स्तर लगातार बढ़ता जा रहा था जिसका मुख्य कारण राजस्थान के कोटा बैराज से चम्बल में छोड़ा गया पानी था। चम्बल में लगातार तेजी से जलस्तर के बढ़ने के कारण यमुना नदी भी बिकराल रूप धारण करती जा रही थी । इस लगातार पानी के बढ़ने से दर्जनों गांव समेत पड़ोसी जनपद इटावा में पड़ने बाले गांव गड़ा कासदा के सम्पर्क मार्ग पर पानी भर जाने के कारण रास्ता बंद हो गया था। वही हालत गुहानी कला सम्पर्क मार्ग की थी जहां लोग कैद होकर रह गए थे। बाढ़ से सिकरोड़ी, गुहानी कला,गुहानी खुर्द, जाजपुर,असेवटा, असेबा, जुहीखा, बडेरा, गूंज ततारपुर, बबाईंन, नगला, भूरेपुर कला, आदि गांवों की हजारो हेक्टर भूमि जलमग्न हो गयी थी जिससे कारण अन्नदाताओं के माथे पर चिंता की लकीरें देखी जा सकती थी लेकिन शनिवार की सुबह से लगातार जल स्तर कम होने से यमुना के तीर वसे लोगो ने राहत की सांस ली है।



No comments