Display bannar

सुर्खियां

जन-जन की आस्था का केंद्र हैं, देवनगरी में बना ये नीलकंठ महादेव का मंदिर

राम बाबू शर्मा, जयपुर 


दौसा : आजतक आपने महादेव जी के कई मंदिर देखें होंगे और उनमें जाकर पूजा भी की होगी लेकिन आज हम आपको जिस मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं वो मंदिर राजस्थान के दौसा जिले में करीब 300 फुट की ऊंचे पर्वत पर बना हुआ है । इस मंदिर के बारे में ऐसा कहा जाता है कि इस मंदिर का निर्माण 7 वीं सदी में कछावा राज्य वंश के राजा सोढदेव ने करवाया था । इस मंदिर में महाकाल का पाषाण का शिवलिंग स्थापित किया गया है । स्वामी योगानंद जी की प्ररेणा से साल 1983 में इस मंदरि का दौबारा से जीर्णोद्धार किया गया था | जिस पत्थर से इस अनोखे मंदिर का निर्माण किय गया है कि उसका नाम है पहाडपुर पत्थर । 

आपको बताते चले कि राजस्थान के इस जिले का देव नगरी के नाम से भी जाना जाता है । इस मंदिर में जाने के लिए आपको करीब 300 सीढियां चढनी होती है और यहां पर पहुचने के लिए हाथीपोल दरवाजे में से होकर जाना होता है । धर्मसेवा समिति के महामंत्री राकेश ने जानकारी देते हुए बताया कि इस मंदिर में हर साल श्रावण महीने में श्रद्धालुओं का भारी भीड रहती है । इस मंदिर में शिवरात्री के मौके पर बडा भारी मेला लगता है जिसमें दूर—दूर से लोग आते हैं और भगवान शिव की पूजा करके अपनी मनोकामना पूरी करते हैं । 

No comments