Display bannar

सुर्खियां

‌मीट एट आगरा के बाद अब लगेगा फुटवियर डिजाइन फेयर


आगरा : मीट एट आगरा के 13 वें संस्करण में जहां 5527 बिजनेस विजिटर्स आए, वहीं ओवर आल फुटफाल साढ़े बारह हजार लोगों का रहा। इससे जहां विंटर सीजन की तैयारी और सैंपलिंग की शुरुआत हुई, वहीं 4 से 5 हजार करोड रुपए के व्यापार की नींव भी इस मेले में रखी गई | यह जानकारी एफमैक के प्रेसिडेंट पूरन डाबर ने रविवार शाम सींगना गांव में बने अत्याधुनिक आगरा ट्रेड सेंटर में आगरा फुटवियर मैन्युफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्टर्स चेंबर (ऐफमेक) द्वारा आयोजित तीन दिवसीय लेदर, फुटवियर कॉम्पोनेंट्स एवं तकनीकी मेला के 13 वें संस्करण के समापन पर पत्रकारों से साझा की। उन्होंने बताया कि इस फेयर में नई पीढ़ी को जहां स्वरोजगार की प्रेरणा दी गई, वहीं कई ऐसी मशीनें सामने आईं जिनसे महिला उद्यमिता और घरेलू उद्योग को बढ़ावा मिलेगा।

उदाहरण के लिए फ्लाइनेट कपड़े के जूते की मशीन का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि घर में इस मशीन को लगाकर मात्र 100 से ₹150 में बढ़िया जूता तैयार किया जा सकता है।फिर इसे ऑनलाइन 400 से ₹500 में बेच कर घरेलू महिलाएं व युवा भी अपने व्यापार को बढ़ा सकते हैं। इस मौके पर पर प्रदर्शकों ने भी अपने अनुभव साझा किए और मेला की सराहना की। रेणुका ढंग ने कहा कि यह इस फेयर को ही श्रेय जाता है कि अब हमको बाहर नहीं जाना पड़ता। अब दुनिया आगरा के पास चलकर आ रही है। एक अन्य प्रदर्शक के ध्यान दिलाए जाने पर आयोजकों ने कहा कि शीघ्र ही आगरा में फुटवियर डिजाइन फेयर लगाया जाएगा। साथ ही मीट एट आगरा के चौदहवें संस्करण की तिथि 30 अक्टूबर से 1 नवंबर 2020 घोषित की गई। इसके लिए एक सप्ताह बाद ही स्टॉल बुकिंग करने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हो जाएगा।  समापन सत्र का संचालन राजेश सहगल व माला खेड़ा ने किया। महासचिव राजीव वासन ने आभार व्यक्त किया। इस दौरान उपाध्यक्ष गोपाल गुप्ता, कन्वीनर कैप्टन एएस राणा, शारदा ग्रुप के चेयरमैन वाईके गुप्ता, सेंट्रल फुटवियर ट्रेंनिंग इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर सनातन साहू, जेएस खेड़ा, कर्नल विजय तोमर व ललित अरोड़ा प्रमुख रूप से मंच पर मौजूद रहे।



No comments