Display bannar

सुर्खियां

Fact Check : सोशल मीडिया पर स्कुल मास्क की वाइरल फोटो का सच... जाने



आगरा : लॉकडाउन में लोग तरह-तरह की गतिविधिया करके अपना समय बिता रहे है कोई बागवानी कर रहा है तो कोई अपने परिवार के साथ घर पर ही कैरम लूडो खेलने में मस्त है वही दूसरी और कुछ शैतान दिमाग लोगो की छवि को ख़राब करने में लगे हुए है ऐसा ही एक मामला शहर के एक स्कुल होली पब्लिक का सोमवार को देखने को मिल।  एक मास्क की तस्बीर तेज़ी से फेसबुक और व्हाट्सएप पर वाइरल होने लग। जैसे ही इसकी भनक बिग पेजेस की टीम को लगी तो उन्होंने इसकी पड़ताल करना शुरू किया तो देखा एक मीडिया के पेज से फोटो वाइरल की गयी उसके बाद ये इतनी वाइरल हुई कि लोगो ने स्कुल के खिलाफ भद्दे-भद्दे कमेंट भी करना पोस्ट कर दिया। 

क्या है वाइरल मैसेज में 
वाइरल मैसेज में कहा गया है कि ये मास्क स्कुल द्वारा बच्चो को अनिवार्य कर दिया गया है और इस कि कीमत 1000 रुपए बताई जा रही है जिसको बच्चे को महीने में दो बार खरीदना होग। मैसेज में मास्क के नाम पर स्कुल कि ठगी करने का आरोप भी लगाया गया है। 

पड़ताल  
जब हमें स्कुल स्वामी व संचालक संजय तोमर से इस पोस्ट के बारे में पूछा तो सचाई कुछ अलग ही थी। उनका कहना है ये फ़र्ज़ी पोस्ट बना कर स्कुल को बनाम करने की साजिश की गयी है। गौर से देखने पर पता लगेगा ये को मास्क नहीं बल्कि रबर का एक टुकड़े पर कंप्यूटर की मदद से स्कुल का मोनोग्राम लगाया गया है। स्कुल ने ऐसा कोई मास्क पहनकर स्कुल आने का नियम नहीं बनाया है। इस सम्बन्ध में थाना सिकंदरा में एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। 

आपको बता दे, उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन को कल ही 31 मई तक बढ़ाया गया जिसमे कि आगरा रेड जोन में है तो स्कुल खुलने की अभी कोई उम्मीद ताजनगरी में दिखती नज़र नहीं आ रही है।  


No comments