Display bannar

सुर्खियां

सरकार के नियम से वेडिंग इंडस्ट्रीज से जुड़े लोगो के लिए बढ़ा संकट


आगरा : उत्तर प्रदेश वेडिंग इंडस्ट्रीज संघर्ष समिति द्वारा शनिवार को एक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में वैवाहिक और मांगलिक कार्यक्रमों से जुड़े व्यापारियों ने अपनी सहभागिता की जिसमें कि टेंट डेकोरेटर, फ्लावर डेकोरेटर, लाइट डेकोरेटर, साउंड ऑपरेटर, आर्टिस्ट, कैटर्स, बैंड संचालक, इवेंट मैनेजर, मैरिज होम संचालक प्रमुख रूप से उपस्थित थे। आगरा जिला अधिकारी कार्यलय से सूचना दोपहर में दी गई कि वैवाहिक और मांगलिक आयोजन में जो 200 लोगों की अनुमति थी वह अब 100 लोगों की कर दी गई है ऐसी स्थिति में मांगलिक आयोजन से जुड़े सभी व्यापारी बहुत समस्या में आ गए बैठक में सभी बंधुओं ने अपने अपने विचार रखें।  

    बैंड संचालक भरत शर्मा ने बताया कि बरात की संख्या पहले से बहुत छुट्टी कर दी गई है जिसमें ट्रॉली भी नहीं रखी गई है ऐसी स्थिति में 200 से 100 की संख्या होना हमें परेशानी में डालती है। बैठक को संबोधित करते हुए रावी इवेंट के निदेशक मनीष अग्रवाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश वेडिंग संघर्ष समिति अपनी बात माननीय मुख्यमंत्री तक पहुंचाएगी।  कई महीनों से अपनी बुरी स्थिति से गुजर रहा यह व्यवसाय वर्तमान समय में कुछ आस लेकर बैठा था अब यह आस भी पूरी तरीके से टूटती नजर आ रही है। 

    उत्तर प्रदेश वेडिंग्स इंडस्ट्री संघर्ष समिति द्वारा माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को संबोधित करते हुए एक ज्ञापन एडीएम सिटी आगरा को दिया। बैठक में सुनील शर्मा, आशीष बंसल, निशांत जैन, तरुण अग्रवाल, मोहन सैनी, संदीप उपाध्याय, कुलदीप पालीवाल, संजय अग्रवाल, सुरेश चंद्र शर्मा, रमाशंकर गोयल, शिविर जैन, हर्ष सिन्हा, स्वप्निल कुलश्रेष्ठ, कमलप्रीत सिंह आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।



No comments